भारत के संविधान दिवस पर गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ योगा एजुकेशन एंड हेल्थ चंडीगढ़ में बेबिनार का आयोजन  

0
723

चंडीगढ ।  26th November, :आज संविधान दिवस के मौके पर चंडीगढ़ के गवर्नमेंट कालेज ऑफ योगा एजुकेशन एंड हेल्थ की तरफ से  “संवैधानिक मूल्यों और भारतीय संविधान के मौलिक सिद्धांत” विषय पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश  न्यायमूर्ति  विजेन्द्र जैन इस मौके पर खास तौर पर उपस्थित थे। कालेज की प्रिंसीपल डाक्टर सपना नंदा ने उनका स्वागत किया।  संविधान के महत्व पर प्रकाश डालते हुए डॉक्टर सपना नंदा ने  भारत के संविधान की प्रस्तावना पढ़ी। कुलवंत सिंह द्वारा संविधान की मुख्य विशेषताओं की व्याख्या के साथ ही बेविनार की शुरुआत हुई।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद न्यायमूर्ति विजेन्द्र जैन, ने संविधान में निहित मूल्यों और मौलिक अधिकारों की व्याख्या की। न्यायमूर्ति जैन ने बताया कि ‘भारत का संविधान’  दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की नींव है। देश के लोकतांत्रिक ढांचा में यह देश में सर्वोच्च कानून है और यह लगातार हमारा मार्गदर्शन करता है। संविधान हमारी लोकतांत्रिक शासन प्रणाली का फाउंटेनहैड है और सरकार के लोकतांत्रिक तरीके के लिए प्रकाश के रूप में भी काम करता है।

उन्होंने अच्छे स्वास्थ्य के अधिकार पर विशेष जोर दिया और सभी से आग्रह किया वे अपने व्यक्तिगत हित व समाज के हित में योग का प्रयोग अपनी जीवन शैली का हिस्सा बनाएं और और सुखी जीवन व्यतीत करें।

समय के अनुरूप कालेज की तरफ से अभी तक पिछले कुछ महीनों में दस अलग अलग विषयों पर बेबिनार का आयोजन किया जा चुका है और यह  वेबिनार भी कॉलेज द्वारा श्रोताओं और को समृद्ध बनाने का एक और प्रयास था। कालेज के यू ट्यूब पेज पर वेबिनार को लाइव प्रसारित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here