आल इंडिया फारवर्ड ब्लॉक ने भी चंडीगढ़ में भरी हुंकार

0
108
Buzzing Chandigarh May 15:(Sonam) चंडीगढ़: देश के फौजियों की सोच राजनैतिक लाभ लेने के लिए, देश को बांट कर खाने की नही बल्कि देश के लिए अपने आप को मिटा कर कुछ कर दिखाने की होती है। इसीलिए सच्ची देशभक्ति और देश व देशवासियों के लिए कुछ करने का जज्बा लिए चंडीगढ़ से लोकसभा चुनाव लड़ रहा हूं। ये कहना है आल इंडिया फारवर्ड ब्लॉक पार्टी की ओर से चुनाव लड़ रहे पूर्व बी एस एफ कॉन्स्टेबल गुरमेल सिंह का। चंडीगढ़ प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकारवार्ता में उन्होंने अपने ये विचार पेश किए। इस अवसर पर पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता वी पी सैनी भी उपस्थित थे।गुरमेल सिंह ने कहा कि उनका उद्देश्य राजनीति नही अपितु देशभर में एक क्रांतिकारी सेवा भावना जगाना है। इसके अलावा गौ हत्या और गौ तस्करी के कड़े ठोस और उचित निर्णायक कदम उठाने के साथ साथ जन कल्याण व देश का विकास है। गुरमेल सिंह ने आगे कहा कि देश भर के जवान, किसान, गरीब मजदूर, बेरोजगार तथा अस्पताल में इलाज के अभाव में भटक रहे गरीब मरीजों की बेहतरी और देश की सीमा पर सरकार की खामियों के चलते सैनिकों के साथ हो रहे शोषण के खिलाफ देश की लोकसभा में एक सांसद के रूप में पूरी बुलंद आवाज में देश के सभी नागरिकों के हक़ और हितो को रखने की पूरी ताकत और जज्बा वो रखते है।  उन्होंने कहा कि जब अरविन्द केजरीवाल झाड़ू से देश की नाकामियों को साफ करने की कोशिश में दिल्ली के सी एम बन सकते है, और चाय बेच बेच कर नरेंद्र मोदी पी एम बन सकते है तो उन्होंने तो देश की सीमा पर भारत माता का एक सच्चा सपूत होते हुए मौत के सामने हर पल पहरा दिया है। तो वो क्यों नही देश की सेवा कर सकते। देश की सेवा की खातिर, गौ माता की रक्षा और तस्करी के विरोध में उन्होंने अपनी नौकरी तक छोड़ दी। पिछले 12 साल से वो समाजसेवा में प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ शहर के विकास से जुड़े 17 अहम मुद्दों को उन्होंने अपने चुनाव घोषणापत्र में शामिल किया है। उन्होंने कहा कि अगर शहरवासी उन्हें जिता कर संसद भेजते है तो वो इन मुद्दों को तय समय सीमा में अमलीजामा पहनाने के अपने वादे पर पूरा उतरेंगे।
उन्होंने शहरवासियों से उनकी सच्ची और दृढ़ देशभक्ति, देशवासियो के हितों और हक़ की खातिर कुछ करने के जुनून व जज्बे को देखते हुए 19 मई को उनके समर्थन में शेर के चुनाव चिन्ह का बटन दबा कर ज्यादा से ज्यादा मतदान की अपील की और भारी मतों से उन्हें विजयी बना संसद में भेजने की अपील भी उन्होंने की।
चंडीगढ़ की गली गली में शोर मचा दो। फौजी भाई की लाज बचा लो।
19 मई को शेर का बटन दबा दो।नेता जी व भारत माँ का शेर जिता दो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here