अगर दुष्यंत के आरोपों में सत्यता है तो फैसला पंचायत पर छोड़े,

0
27

Buzzing Chandigarh Sept,13:(jay) दुष्यंत चौटाला द्वारा विपक्ष को संगठित करने के मुहीम चला रहे हरियाणा स्वाभिमान आंदोलन के अध्यक्ष रमेश दलाल पर लगाए गए आरापों के जवाब में  रमेश दलाल ने दुष्यंत चौटाला को पत्र लिख कर पंचायत पर सही और गलत का फैसला छोड़ने की बात कही है। दुष्यंत चौटाला ने गुरुवार को मीडिया से बात करते हुए रमेश दलाल पर राजनीति करने व् षड्यंत्र के तहत केवल दुष्यंत चौटाला को टारगेट करने के आरोप लगाए थे। इसके जवाब में रमेश दलाल ने दुष्यंत चौटाला को पत्र लिख कर कहा है की अगर उनके आरोपों में सत्यता है तो वह इसका फैसला पंचायत पर छोड़ दे। रमेश दलाल पत्र में लिखते है:
“आपने दिनांक: 12.09.2019 को मीडिया के सामने मेरे तथा पंचायत के बारे में कुछ बयान दिए है। आपके द्वारा दिए गए बयान पूर्णतः गलत व् झूठे है। आपने झूठ बोल कर मेरा अपमान नहीं किया है, आपने झूठ बोल कर हरियाणा की संस्कृति व् खापों का अपमान किया है।  यदि आपके आरोपों में सत्यता है, तो मैं पंचायत से कोई भी दंड लेने के लिया तैयार हूँ। वही, अगर मैं यह बात सिद्ध कर दूँ कि आपके आरोप झूठे है, तो क्या आप भी पंचायत द्वारा कोई भी दंड लेने के लिए तैयार है? अगर आप तैयार है, तो निम्नलिखित में से किसी भी पंचायत पर आप और मैं यह फैसला छोड़ देते है:

1. चौटाला गाँव की पंचायत। चौटाला गाँव क्योकि यह आपका पैतृक गाँव है।
2. अहलावत खाप (डीघल) की पंचायत। अहलावत खाप (डीघल) क्योकि अहलावत खाप में आपकी सुसराल है।

आपका उपर्युक्त दोनों पंचायतों से सम्बन्ध है, इसलिए आप विश्वास कर सकते है की उपर्युक्त पंचायते आपके साथ कोई भेदभाव नहीं करेगी तथा आपके साथ न्याय होगा। जहाँ तक मेरी बात है,  मुझे यह भरोसा है कि कोई भी गाँव या खाप हो, पंचायते कभी किसी के साथ गलत नहीं करती, हमेशा न्याय करती है।  इसलिए, मैं उपर्युक्त दोनों में किसी भी पंचायत पर फैसला छोड़ने के लिए तैयार हूँ। गेंद आपके पाले में है, आप उपर्युक्त में से किसी भी पंचायत का चयन कर ले और फैसला पंचायत पर छोड़ दे। आप अपना पक्ष रखना, मैं अपना पक्ष रखूँगा और फैसला पंचायत को करने दे की इस मामले कौन सही है और कौन गलत?”

साथ ही रमेश दलाल का कहना है कि उन्होंने विपक्ष के एकजुटता की मुहीम को है छोड़ा है, पंचायत अभी भी चाहती है की इनका समझौता हो। रमेश दलाल पत्र में लिखते है “वही विपक्ष के गठबंधन की मुहीम को लेकर मै आज भी गंभीर हूँ। अगर आप सार्वजनिक रूप से मेरे व् पंचायत के ऊपर लगाए गए आरोपों को वापिस ले तथा फैसला पंचायत पर छोड़ें, तो मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ कि  गठबंधन को लेकर पंचायत आपके साथ न्याय करेगी।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here